अपन् हक ओ अधिकार के लाग लरक परल

अपन् हक ओ अधिकार के लाग लरक परल

उथि जागी थारु हम्र अब त कुछ् करक परल
अपन् हक ओ अधिकार के लाग लरक परल

अब चुप लाग क कुछ् नि हुइना हो हमार हेरो
जस्सिक हुइलासे फे अब त आघ सरक परल

निर्दोशी हे फे दोशी बनाक फसैती बाता यहाँ
अब् सब जे मिल्क काँधेम काँध धरक परल

कब्ब सम् कमैया ओ दासी बन्क बैथ्बी हम्र
अब कुछ अईसन युद्ध के बिया छरक परल

हमार थारु आदिबासिनके हक अधिकार के
लाग एक्जुट होक योद्ध के लदिया तरक परल

चौधरी राजु कुश्मी Rc
ठाकुरबाबा ५ ढुङ्ग्रहवा बर्दिया
हाल आनक बिरान बस्ती
साउदी अरब म