थारु टिकापुर बनैली

थारु टिकापुर बनैली

मच्छरसे कटा कटा, थारु टिकापुर बनैली॥

पवौ चप्पल टुटा टुटा, थारु टिकापुर बनैली॥

 

कबु बिखार साँप त, कबु सिकलसेलसे लड्के।

आँगक झुलुवा फटाफटा,थारु टिकापुर बनैली॥

 

नैहौ कौनो थर ठेगान, नाट कौनो छाधि छपरा।

किर्पालम लर्का सुतासुता,थारु टिकापुर बनैली॥

 

आज टिकापुर छोरकथो, असम्भब बा छोर्ना हम्र।

आपन सन्तान घटाघटा,थारु टिकापुर बनैली॥

गणेश चाैधरी, िटकापुर ९ कैलाली