माया प्रेमके अधुरा कहानी नापुछो

माया प्रेमके अधुरा कहानी नापुछो

माया प्रेमके अधुरा कहानी नापुछो ।
मै मुवटु मने महिनहे पानी नापुछो ।

मोरछटपटैटी रहल लहास नाँघके चलजाउ,
तबसे यिहीनसे पाछेक कहानी नापुछो ।

कोरोनाके कारनसे डुनियाँ कैघर बरबाड हुगिल,
आझ तु अकेली मोरिक जवानी नापुछो ।

मरल्तु कोरोनासे हिम्मत बाते लास उठाडेउ,
मरल हुकनके अब जिन्डगानी नापुछो ।

सान चौधरी
गोदावरी-८,फकलपुर,कैलानी