दुल्ही,दुल्हा बनक खेलल बुक्रिभाँरा बिसर्गिलो कि का  |

खुझी बनाके खाइल मकैक द्वाँरा बिसर्गिलो कि का ||

 

महतान निमुवा चोराइबेर रक्दल महतान बुर्ह्वा |

छटक,छटक भग्ली सांधक घारा बिसर्गिलो कि का ||

 

मै फे ओस्त दोख्खा टुँ फे ओस्त हेंक्कर त रहो जे |

चुर्किहा बारीम कत्ल बलरी हारा बिसर्गिलो कि का ||

 

भुंख,पियास,दुख,बेराम जम्मक जम्म बटाउ महिन |

हेग्नी लागलम खवैनु कच्च क्यारा बिसर्गिलो कि का ||

 

तुंहार घर जब पता पैल भ्याट नि देहलग्ल हमन |

उहो ब्याला अँट्टोम सर्लो दयारा बिसर्गिलो कि का ||

 

खेलमस्तिक खेलमस्तिक उर्हरकफे गैल रही जे |

अल्गा देल जुटके समाजसारा बिसर्गिलो कि का ||

 

 

         सुमित रत्गैंयाँ
रैकवार बिचवा १ मजगैं कन्चनपुर्