तुहार याद कोरोना हसक लघ्घु लघ्घु आईटा बचाऊ ना

तुहार याद कोरोना हसक लघ्घु लघ्घु आईटा बचाऊ ना

तुहार याद कोरोना हसक लघ्घु लघ्घु आईटा बचाऊ ना ।।
मोर मन मुटुके भिट्टर जाके खोबसे सटाईटा बचाऊ ना ।।

मै बहुत कोसीस कर्नु यि तुहार सम्झना हे रोकक लाग ।।
सरकारके लगाईल निषेधआज्ञा तोरके जाईटा बचाऊ ना ।।

सुमित रत्गैयाँ
मज्गैँ कञ्चनपुर